Motherhood – Purest form of Love ..

IMG_3228

{ Picture location : Vagator Beach , Goa ! }

{Whenever I revisit this picture , the only song which seems fit to define the love is : }  … 

आ चल के तुझे मैं लेके चलूँ, एक ऐसे गगन के तले
जहाँ ग़म भी ना हो, आँसू भी ना हो, बस प्यार ही प्यार पले

सूरज की पहली किरण से, आशा का सवेरा जागे
चंदा की किरण से धूलकर, घनघोर अंधेरा भागे
कभी धूंप खिले, कभी छाँव मिले, लंबी सी डगर ना खले

जहाँ दूर नज़र दौड़ाए, आज़ाद गगन लहराये
जहाँ रंगबिरंगे पंछी, आशा का संदेसा लाये 
सपनों में पली, हँसती वो कली, जहाँ शाम सुहानी ढले

सपनों के ऐसे जहां में, जहाँ प्यार ही प्यार खिला हो
हम जा के वहा खो जाये, शिकवा ना कोई गीला हो
कही बैर ना हो, कोई गैर ना हो, सब मिल के यूँ चलते चले

{ Hope you feel the same what every Mother wishes for their Kid }

Movie : Door Gagan Ki Chhaon Mein (1964)
Lyricist  & Singer : Kishore Kumar, 
Music Director : Kishore Kumar, 

					
Advertisements

2 thoughts on “Motherhood – Purest form of Love ..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s